वनाधिकार अधिनियम 2006 के तहत एक दिवसीय कार्यशाला का किया गया आयोजन

बिरसा भूमि लाइव

गुमला : मंगलवार को नगर भवन में वनाधिकार अधिनियम 2006 विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला सह प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कल्याण विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में वनाधिकार अधिनियम की बारीकियों पर विस्तृत चर्चा की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जिला वन प्रमंडल अधिकारी अहमद बेलाल अनवर, एसडीओ सदर रवि जैन, अपर समाहर्ता सुधीर कुमार गुप्ता मौजूद रहें कार्यक्रम का संचालन जिला कल्याण पदाधिकारी आलोक रंजन द्वारा किया गया। यह कार्यशाला मुख्य रूप से सभी प्रखंडों के अंचल अधिकारी, अंचल निरीक्षक, राजस्व कर्मचारी, वन विभाग के अधिकारियों के लिए आयोजित किया गया एवं कार्यशाला में FRA NGO के सदस्यों द्वारा विस्तृत प्रशिक्षण दिया गया।

इस दौरान जिला वन प्रमंडल पदाधिकारी अहमद बेलाल अनवर ने कहा कि वन क्षेत्र में वर्षों से रहने वाले योग्य व्यक्तियों को वनाधिकार अधिनियम का लाभ मिले यह जरुरी है। यह अधिनियम वनों के संरक्षण के लिए धरातल पर उतारा गया है। उन्होंने कहा कि वन संपदा को बचाना है। न कि उसका दोहन करना है। वनों की रक्षा करना है ना कि उसमें आग लगाना है। वनोत्पाद पर ग्रामीणों का हक है। महुआ, चिरौंजी, पत्ते, सुखे पेड़ की टहनियां का उपयोग ग्रामीण ही तो करते हैं। इसके लिए उन्हें कभी नहीं रोका जाता है। उन्होंने कहा कि वनाधिकार अधिनियम के तहत व्यक्तिगत एवं सामुदायिक लाभ दिया जाता है। लाभ लेने के लिए कई लोग गलत जानकारियां और दावा प्रस्तुत करते हैं। जबकि वन विभाग 1980 का नक्सा देखकर जमीन की स्थिति बता सकता है। लोग इसका दुरुपयोग न करें बल्कि इस अधिनियम का लाभ उठाएं।

जिला कल्याण पदाधिकारी आलोक रंजन ने कहा कि वनाधिकार अधिनियम को लेकर वन विभाग, कल्याण विभाग और राजस्व विभाग कार्य कर रहा है। अब तक जिले में 1925 वन पट्टा का वितरण किया जा चुका है। इनमें 1889 व्यक्ति और 36 सामुदायिक वन पट्टा है। जिले के कुल 1711 हेक्टेयर वन भूमि का पट्टा दिया जा चुका है। उन्होंने कहा कि ग्राम सभा स्तर पर ही दस्तावेज को बेहतर तरीके से तैयार करें ताकि आगे तेजी से निष्पादित हो सके।

मौके पर विशेषज्ञ सुधीर पाल ने कहा कि वनाधिकार अधिनियम को बेहतर तरीके समझें। यह पहला कानून है जो ग्राम सभा को मिली है। इस अधिनियम में मुख्य भूमिका ग्राम सभा की है। ग्राम सभा को सशक्त कर अधिक से अधिक आवेदन सृजित कर इसका लाभ लिया जा सकता है।

मौके पर अपर समाहर्ता सुधीर गुप्ता, एसडीओ सदर रवि जैन आदि ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

Related Articles

Stay Connected

1,005FansLike
200FollowersFollow
500FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles