अक्टूबर-नवंबर में आयोजित की जाएगी झारखंड एशियन चैंपियंस ट्रॉफी रांची 2023

बिरसा भूमि लाइव

यह प्रतिष्ठित टूर्नामेंट पहली बार भारत में आयोजित किया जाएगा

नई दिल्ली : भारतीय हॉकी फैंस के लिए अच्छी खबर है। हॉकी इंडिया और झारखंड सरकार ने आज महिलाओं की प्रतिष्ठित एशियन चैंपियंस ट्रॉफी, जिसे इस साल झारखंड एशियन चैंपियंस ट्रॉफी रांची 2023 के नाम से जाना जाएगा, के मेजबान स्थल के रूप में झारखंड की राजधानी रांची के नाम की घोषणा की है। यह प्रतिष्ठित टूर्नामेंट का सातवां संस्करण होगा, जो 27 अक्टूबर से 5 नवंबर 2023 के बीच आयोजित होगा।

मौजूदा चैंपियन जापान, उपविजेता कोरिया, चीन, मलेशिया, थाईलैंड और मेजबान भारत के टूर्नामेंट में भाग लेने की उम्मीद है। भारतीय महिला टीम ने 2016 में यह खिताब जीता था और 2018 में अगले संस्करण में वे उपविजेता रही थी।

रांची ने इससे पहले 2012 से 2015 तक कई हॉकी इंडिया लीग मैचों की मेजबानी की है और यह सिटी बेस्ड फ्रेंचाइजी रांची रेज का घर था। हाल के वर्षों में, स्टेडियम में कई शीर्ष घरेलू स्तर के आयोजन हुए हैं और सबसे बड़ी बात यह है कि इस शहर में इस खेल के लिए एक बड़ा फैन बेस है।

झारखंड का हॉकी का इतिहास समृद्ध रहा है। इसने सात ओलंपिक खिलाड़ी पैदा किए हैं, जिन्होंने गर्व से भारत का प्रतिनिधित्व किया है। इनमें जयपाल सिंह मुंडा, सिलबानुस डुंगडुंग, मनोहर टोपनो, अजीत लाकड़ा, निक्की प्रधान, सलीमा टेटे और स्वर्गीय श्री माइकल किंडो और स्वर्गीय श्री मारंग गोमके शामिल हैं।

इस साल अक्टूबर में झारखंड आने वाली टीमों का स्वागत करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा, “भारत में पहली बार आयोजित होने जा रहे महिला एशियन चैंपियंस ट्रॉफी में भाग लेने आने वाली एशिया की सर्वश्रेष्ठ महिला हॉकी टीमों का स्वागत करना हमारे लिए सम्मान और गर्व की बात होगी। पिछले एक दशक में, झारखंड में हॉकी ने नई ऊंचाइयों को हासिल किया है। इसका कारण यह रहा है कि राज्य के कई खिलाड़ी जूनियर और सीनियर दोनों टीमों में भारत के लिए खेल रहे हैं। हमने पिछले कुछ वर्षों में इस खेल में कई ओलंपियन भी तैयार किए हैं। जयपाल सिंह मुंडा (1928 एम्स्टर्डम ओलंपिक), माइकल किंडो (1972 म्यूनिख ओलंपिक), सिल्वेनस डुंगडुंग (1980 मॉस्को ओलंपिक), अजीत लाकड़ा (1992 बार्सिलोना ओलंपिक), मनोहर टोपनो (1984 लॉस एंजेलिस ओलंपिक), निक्की प्रधान (2016 रियो ओलंपिक और 2020 टोक्यो ओलंपिक) तथा सलीमा टेटे (2020 टोक्यो ओलंपिक) जैसे खिलाड़ियों की बदौलत हॉकी में राज्य की प्रगति लगातार प्रदर्शित हो रही है। मैं मानता हूं कि रांची में टूर्नामेंट का 7वां संस्करण आयोजित कराना हमारे अधिक से अधिक युवा खिलाड़ियों को प्रेरणा देगा और वे इस खेल को अपनाने के लिए प्रोत्साहित होंगे। मैं इसमें हिस्सा लेने वाली सभी टीमों, एशियाई हॉकी महासंघ और हॉकी इंडिया के अधिकारियों का स्वागत करता हूं कि वे आएं और झारखंड में खेलों से जुड़ी सुविधाओं और आतिथ्य का आनंद लें।”

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के निरंतर समर्थन और सहयोग के लिए आभार व्यक्त करने के साथ-साथ भारत को झारखंड एशियन चैंपियंस ट्रॉफी रांची 2023 की मेजबानी की जिम्मेदारी सौंपने के लिए एएचएफ को धन्यवाद देते हुए हॉकी इंडिया के अध्यक्ष पद्म श्री डॉ. दिलीप टिर्की ने कहा, “मैं झारखंड में हॉकी के विकास और प्रचार-प्रसार के प्रति उनके अटूट समर्थन और सहयोग के लिए हॉकी इंडिया की ओर से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करना चाहता हूं। मैं हॉकी इंडिया को झारखंड एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी रांची 2023 की मेजबानी का सम्मान नवाजने के लिए एएचएफ को हार्दिक धन्यवाद देना चाहता हूं। यह आयोजन हॉकी के वैश्विक केंद्र के रूप में भारत के बढ़ते कद का एक प्रमाण है। हमें विश्वास है कि इस टूर्नामेंट के दौरान न केवल एशियाई महिला हॉकी का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देखने को मिलेगा बल्कि हमारे अपने खिलाड़ियों को दुनिया की कुछ सर्वश्रेष्ठ टीमों के खिलाफ मुकाबला करने के लिए एक शानदार मंच भी प्रदान करेगा। हम यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि यह टूर्नामेंट शानदार रूप से सफल हो, और हम इसमें भाग लेने वाली टीमों और फैंस का भारत में स्वागत करने के लिए उत्सुक हैं।”

हॉकी इंडिया के महासचिव भोला नाथ सिंह ने अध्यक्ष की बातों को दोहराते हुए कहा, “मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से हमें जो समर्थन और सहयोग मिला है, उसके लिए मैं बहुत आभारी हूं। जब हमने झारखंड एशियन चैंपियंस ट्राफी की मेजबानी में अपनी रुचि व्यक्त की थी, तब मुख्यमंत्री राज्य में इस आयोजन की मेजबानी के लिए आवश्यक सभी सहायता प्रदान करने के लिए तुरंत सहमत हो गए थे। वह हमेशा खेलों के प्रबल समर्थक रहे हैं। इस तरह के मेगा इवेंट की मेजबानी करना हमारे लिए एक बड़ा सम्मान की बात है और मेरा मानना है कि यह रांची में भविष्य में और अधिक अंतरराष्ट्रीय हॉकी इवेंट्स की मेजबानी के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। साथ ही इस प्रतिष्ठित आयोजन की मेजबानी की जिम्मेदारी हमें सौंपने के लिए मैं एएचएफ को धन्यवाद देता हूं। मुझे यकीन है कि हॉकी फैंस इस टूर्नामेंट के खिताब के लिए प्रतिस्पर्धा करने वाले एशियाई देशों को खेलते देखकर प्रसन्न होंगे।”

इस अवसर पर एएचएफ अध्यक्ष डातो फुमियो ओगुरा ने कहा, “हम इस बात को लेकर बहुत उत्साहित हैं कि रांची महिलाओं की एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के आगामी संस्करण की मेजबानी कर रहा है। हॉकी इंडिया ने पिछले कुछ वर्षों में भारत में विश्व स्तरीय इवेंट्स की मेजबानी करते हुए एक बड़ी प्रतिष्ठा बनाई है। इसने एफआईएच पुरुष विश्व कप की मेजबानी की और फिर अपनी मेजबानी में चेन्नई में हीरो एशियन चैंपियंस ट्रॉफी (पुरुष) में खिताबी जीत हासिल की। यह सब बातें हॉकी इंडिया की अद्वितीय क्षमताओं को स्पष्ट रूप से उजागर करती हैं। हॉकी इंडिया को उनके अटूट समर्थन के लिए हमारा हार्दिक आभार। आगामी झारखंड एशियन चैंपियंस ट्रॉफी रांची 2023 के साथ, हम एक और शानदार परफार्मेंस की आशा करते हैं। हमें यकीन है कि इस टूर्नामेंट की सफलता इस क्षेत्र में हॉकी को काफी समृद्ध करेगी। हम झारखंड सरकार, इसमें हिस्सा लेने वाली टीमों और सभी स्टेकहोल्डर्स के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं। हम उम्मीद करेंगे कि फैंस और एथलीटों के लिए, यह आयोजन कभी न खत्म होने वाली यादें दे। हम तहे दिल से आप सभी को रांची में हमारे साथ इस इवेंट में शामिल होने के लिए आमंत्रित करते हैं।”

Related Articles

Stay Connected

1,005FansLike
200FollowersFollow
500FollowersFollow
- Advertisement -spot_img

Latest Articles